दो बातें प्यार भरी – Do Baatein Pyar Bhari (Aankhon Aankhon Mein)


फ़िल्म/एल्बम: आंखों आंखों में (1972)
संगीतकार: शंकर-जयकिशन
गीतकार: वर्मा मलिक
गायक/गायिका: किशोर कुमार, आशा भोंसले


ए, दो बातें प्यार भरी कर लूं
कर लो जी
आंखों में आज तुझे भर लूं
भर लो जी

चुनरी को समझा ले, मुखड़ा तेरा छिपाती है
लट तेरे गालों पर, झूम-झूम के आती है
नागन को ज़रा इधर कर लूं
हां कर लो जी
आंखों में आज तुझे…

पूरब का संदेसा, जब पुरवाई लाती है
थम जाए धड़कन भी, नींद प्यार को आती है
कांधे पे सर अपना धर लूं
धर लो जी
दो बातें प्यार भरी…

सोयी हुई बरसों की, जागी आज मोहब्बत है
आंखों को ना जाने, क्यूं अब तेरी ज़रुरत है
इस दिल में दिल अपना धर लूं
हां धर लो जी
आंखों में आज तुझे…

Advertisements