धन धन धन धरती रे – Dhan Dhan Dhan Dharti Re (Raajniti)


फ़िल्म: राजनीति (2010)
संगीतकार: प्रीतम चक्रबर्ती
गीतकार: गुलज़ार
गायक/गायिका: शंकर महादेवन, सोनू निगम


बूढ़ा आसमां, धरती देखे रे
धन है धरती रे, धन-धन धरती रे

वो बहता है तो ये धरती सहती है
पीठ पे देह लेकर गंगा बहती है
तारे गिरे हैं कितने
धरती सूरज बुझे हैं कितने
ओ धरती रे धन धरती रे
धन धन धन धरती रे

बंटवारे हो तो ये धरती कटती है
सूखा पड़ता है तो धरती फटती है
एक पल जीती रे, एक पल मरती रे
धन है धरती रे, धन-धन धरती रे

कोई तो धोये ये दाग ज़मीं के
फिर से हरे हो जाएं बाग़ जमीं के
ये सोच के हर दिन हर रात
ओंस उतरती रे
ओ धरती रे धन धरती रे
बूढ़ा आसमां…

Advertisements

ओ मामा मामा मामा, हम सारे हैं मुम्बईया – Oh Mama Mama (Rehna Hai Tere Dil Mein)


फ़िल्म: रहना है तेरे दिल में (2001)
संगीतकार: हैरिस जयराज
गीतकार: समीर
गायक/गायिका: सोनू निगम


हम तो हैं दीवाने, मस्ताने मुम्बईया
ओ मामा मामा मामा, हम सारे हैं मुम्बईया
हम बेताले भी मिल के ताल में नाचे ता-थैया
ऊ लाला ऊ लाला हम पीते मस्ती का प्याला
गोपाला-गोपाला खुल जाये किस्मत का ताला
पीछे मुड़ के देख रहा क्यूं
कह देना काय झाला
ओ मामा मामा…

कैसा घोटाला है, कैसी ये मिक्सिंग है
परदे के पीछे है क्या ड्रामा
कैसा तहलका है, क्या मैच फिक्सिंग है
ये क्या मचा है रोज़ हंगामा
ना वो गांधी रहे, ना वो गौतम रहे
ना वो पब्लिक रही, ना वो मौसम रहे
ओ मामा मामा…

चाहे हम तो चाहे
आंखों में टेलिस्कोप हम चाहें
पैरों में राकेट स्पीड हम चाहें
कुड़ियों के साथ डेट हम चाहें
डिस्को में रहना लेट हम चाहें
आजू से देखो या बाजू से देखो तुम
चारों तरफ से लगती सुंदरी
यारों इस्टाइल से बोले मोबाइल से
रहती कहां है पूछो ये परी
चश्मा आंखों पे है, हाथों में है घड़ी
गुस्से में है खड़ी, क्यों गुलाबी छड़ी
ओ मामा मामा…

ये हैं तेरे करम, कभी ख़ुशी कभी ग़म – Kabhi Khushi Kabhi Gham Title Song


फ़िल्म: कभी ख़ुशी कभी ग़म (2001)
संगीतकार: जतिन-ललित
गीतकार: समीर
गायक/गायिका: लता मंगेशकर, सोनू निगम


मेरी सांसों में तू है समाया
मेरा जीवन तो है तेरा साया
तेरी पूजा करूं मैं तो हर दम
ये हैं तेरे करम, कभी ख़ुशी कभी ग़म
ना जुदा होंगे हम, कभी ख़ुशी कभी ग़म

सुबह-ओ-शाम चरणों में दीये हम जलायें
देखे जहां भी देखें, तुझको ही पायें
इन लबों पे तेरा बस तेरा नाम हो
प्यार दिल से कभी भी ना हो कम
ये हैं तेरे करम…

ये घर नहीं है, मंदिर है तेरा
इसमें सदा रहे तेरा बसेरा
खुशबुओं से तेरी ये महकता रहे
आये-जाये भले कोई मौसम
ये हैं तेरे करम…

तेरे साथ होंगी मेरी दुआएं
आये कभी ना तुझपे कोई बलाएं
मेरा दिल ये कहे, तू जहां भी रहे
हर घड़ी, हर ख़ुशी चूमे तेरे कदम
ये हैं तेरे करम…

क्या बेबसी है ये, क्या मजबूरियां
हम पास हैं फिर भी कितनी हैं दूरियां
जिस्म तू जान मैं, तेरी पहचान मैं
मिल के भी ना मिले, ये है कैसा भरम
ये हैं तेरे करम…

असलम भाई, मेरे असलम भाई – Aslam Bhai (Love Ke Liye Kuchh Bhi Karega)


फ़िल्म: लव के लिए कुछ भी करेगा (2001)
संगीतकार: विशाल भारद्वाज
गीतकार: अब्बास टायरवाला
गायक/गायिका: सोनू निगम


असलम भाई, मेरे असलम भाई
असलम भाई, असलम भाई, असलम भाई
दुबई का चश्मा, चीन की चड्डी
और ईरानी चाय
असलम भाई…

कच्चा पक्का, 320
उधार की बीड़ी हाय

तेरा चेहरा क़यामत है
बॉलीवुड की शामत है
ना तू नंगा, ना तू हकला
ना तू गंजा असलम भाई
हाथ में बस पांच ऊंगली
हीरो बन जा असलम भाई
माधुरी पछतायेगी, ऐश्वर्या करेगी हाय
असलम भाई…

आंख में तेरी मैजिक है
चेहरा कितना ट्रैजिक है
हाउस फुल के बोट पर तू
मुस्कुराना असलम भाई
माफिया से पंगा लेना
ना कभी ना असलम भाई
आप के बिन सूनी होगी, फ़िल्मी दुनिया हाय
असलम भाई…

मुझे साजन के घर जाना है – Mujhe Sajan Ke Ghar Jaana Hai (Lajja)


फ़िल्म: लज्जा (2001)
संगीतकार: अनु मलिक
गीतकार: समीर
गायक/गायिका: अल्का याग्निक, ऋचा शर्मा, सोनू निगम


जे मैं होणा सी पराई
दस तू ऐ नी पीत क्यूं पाई, माए

मेहंदी लगा के आई
बिंदिया सजा के आई
चूड़ी खनका के आई
पायल छनका के आई
हो अब गीत मिलन के गाना है
मुझे साजन के घर जाना है
मुझे साजन के घर जाना है…

गुडिया पटोले ऐथे
मेरिया निशानियां
यादां रह जाणियां

बचपन बीता जवानी आई
साजन का संदेसा लायी
सैयां जी की सेज को जा के
फूलों से महकाना है
मुझे साजन के…

जम्दिया मां पे आं तो
परायियां हो जान्दिया
पिया मर जाणियां
पल में नाता तोड़ चली मैं
बाबुल का घर छोड़ चली मैं
अब तो पिया के देस में सारा
जीवन मुझे बिताना है
मुझे साजन के…

बेटी की तक़दीर का लेखा
पढ़ के ममता रोई
किसी ने इसको जनम दिया
और ले जाए इसे कोई

हो सजधज के आये बाराती
लाये घोड़े हाथी
ओ तेरी शादी के मौके पे
मिल के सेहरा गायेंगे
सदा सुहागन रहे तू बन्नो
तुझे दुआएं दे जायेंगे
आज की रैना, हम लोगों को
झूम-झूम के गाना है
मुझे साजन के…