शावा शावा रूप है तेरा सोणा सोणा – Say Shava Shava (Kabhi Khushi Kabhi Gham)


फ़िल्म: कभी ख़ुशी कभी ग़म (2001)
संगीतकार: आदेश श्रीवास्तव
गीतकार: समीर
गायक/गायिका: अमिताभ बच्चन, सुदेश भोंसले, सुनिधि चौहान, उदित नारायण, आदेश श्रीवास्तव, अल्का याग्निक, अमित कुमार


से शावा शावा…
रूप है तेरा सोणा सोणा
सोणी तेरी पायल
छन छना छन ऐसे छनके
कर दे सबको घायल
कह रहा आंखों का काजल
इश्क़ में जीना मरना
एव्रीबॉडी से शावा शावा माहिया
से शावा शावा…

रूप है मेरा सोणा सोणा
सोणी मेरी पायल
छन छना छन ऐसे छनके
कर दे सबको घायल
कह रहा आंखों का काजल
इश्क़ में जीना मरना
एव्रीबॉडी से शावा शावा माहिया
से शावा शावा…

माहिया वे आजा माही
माहिया वे आजा…

आजा गोरी नच ले, हे शावा
नच ले वे नच ले, हे शावा
आजा गोरी नच ले…

देखा तैनूं पहली-पहली बार वे
होने लगा दिल बेक़रार वे
रब्बा मैनूं की हो गया, दिल जाणिये
हाय मैनूं की हो गया
सुन के तेरी बातें सोणे यार वे
माही मैनूं तेरे नाल प्यार वे
हाय मैं मर जावां दिल जाणिये
हाय मैं मर जावां
से शावा शावा माहिया…
ते शावा शावा भंगड़ा…

इन क़दमों में सांसें वार दे
रब से ज़्यादा तुझे प्यार दे
रब मैनूं माफ़ करे, रब्बा खैरिया
हाय मैनूं माफ़ करे
तुम तो मेरी जिन्द मेरी जान वे
मेरी तू जमीं है, आसमान वे
तुझ बिन मैं की करां, रब्बा खैरिया
हाय वे मैं की करां
से शावा शावा माहिया…
रूप है तेरा सोणा…

Advertisements

बोलो बोलो क्या बात हुई है – Bolo Bolo Kya Baat Hui Hai (Rehna Hai Tere Dil Mein)


फ़िल्म: रहना है तेरे दिल में (2001)
संगीतकार: हैरिस जयराज
गीतकार: समीर
गायक/गायिका: शान


बोलो बोलो क्या बात हुई है
क्यों है दीवाने इस दिल में हलचल हलचल
फिरता हूं मैं तो गलियों में पागल पागल
तेरे, दिल तेरा दिल कोई ले के गया
ऐसा पहले तो ना हुआ
कम ऑन बेबी, डोंट डू दिस बेबी
छाया है ये कैसा नशा
तू ना जाने हाल मेरा
डोंट यू एवर डू दिस

दिलरुबा मेरी जानेमन
कैसा है ये दीवानापन
तुमसे नज़र जब मिली मैंने ये जाना
जान-ए-वफ़ा प्यार होता है क्या
तुझे इश्क़ हो गया यारा
मारा गया तू बेचारा
दिल आ गया है तेरा किसी पे
मुश्किल है तुझको समझाना
बेचैन तुझको करता है
वो अनजाना दर्द चाहत का
वो नाज़नीन लड़की हसीन
कर के गई है क्या मैं ना जानूं
बोलो बोलो…

देखा जो चोरी-चोरी मैंने तुझे मेरी जान
दिल जाना गोरी-गोरी, तुझको दिया दिल जवां

वो बसी मेरी आंखों में
वो छुपी मेरी सांसों में
आती है रातों को वो मेरे ख़्वाबों में
माने ना दिल अब तो उसके बिना
तेरी नींद ले गई वो तो
तुझे दर्द दे गई वो तो
उस दिल-नशीं के होंठों पे लिख दे
बेताबियों का अफ़साना
है आरज़ू यही परवाने
तेरी जवां धड़कन की
वो अप्सरा है या हूर कोई
लगती मगर मुझे वो दीवानी
ओ बोलो बोलो…

ओ मामा मामा मामा, हम सारे हैं मुम्बईया – Oh Mama Mama (Rehna Hai Tere Dil Mein)


फ़िल्म: रहना है तेरे दिल में (2001)
संगीतकार: हैरिस जयराज
गीतकार: समीर
गायक/गायिका: सोनू निगम


हम तो हैं दीवाने, मस्ताने मुम्बईया
ओ मामा मामा मामा, हम सारे हैं मुम्बईया
हम बेताले भी मिल के ताल में नाचे ता-थैया
ऊ लाला ऊ लाला हम पीते मस्ती का प्याला
गोपाला-गोपाला खुल जाये किस्मत का ताला
पीछे मुड़ के देख रहा क्यूं
कह देना काय झाला
ओ मामा मामा…

कैसा घोटाला है, कैसी ये मिक्सिंग है
परदे के पीछे है क्या ड्रामा
कैसा तहलका है, क्या मैच फिक्सिंग है
ये क्या मचा है रोज़ हंगामा
ना वो गांधी रहे, ना वो गौतम रहे
ना वो पब्लिक रही, ना वो मौसम रहे
ओ मामा मामा…

चाहे हम तो चाहे
आंखों में टेलिस्कोप हम चाहें
पैरों में राकेट स्पीड हम चाहें
कुड़ियों के साथ डेट हम चाहें
डिस्को में रहना लेट हम चाहें
आजू से देखो या बाजू से देखो तुम
चारों तरफ से लगती सुंदरी
यारों इस्टाइल से बोले मोबाइल से
रहती कहां है पूछो ये परी
चश्मा आंखों पे है, हाथों में है घड़ी
गुस्से में है खड़ी, क्यों गुलाबी छड़ी
ओ मामा मामा…

प्यार हुआ ना रे मामा – Pyar Hua Na Re Mama (Hum Ho Gaye Aapke)


फ़िल्म: हम हो गये आप के (2001)
संगीतकार: नदीम-श्रवण
गीतकार: समीर
गायक/गायिका: सुनिधि चौहान


देखो ये दीवाना मारा गया
शीशे में दिल के उतारा गया
किसकी निग़ाहों में ये बस गया
जा के बेचारा कहां फंस गया
प्यार हुआ ना ए ए रे मामा
दिल तो गया ना हां हां रे मामा
प्यार हुआ ना रे मामा..

नादां है तू ना तुझको ख़बर है
आसां नहीं ये दिल का सफ़र है
मुश्किल बड़ी है चाहत की राहें
जीने न देंगी ये कमसिन अदायें
ज़ुल्फों के साये से बच के निकल
पागल अनाड़ी मेरे साथ चल
दिलबर नहीं काम है ये तेरा
तू मान ले अब तो कहना मेरा
प्यार हुआ ना रे मामा..

मेरे लबों पे है तेरी कहानी
तेरे लिए है ये मेरी जवानी
क्या कह रही है ये रंगीन रातें
आजा करें मिल के चाहत की बातें
यूं मुझसे दामन छुड़ा के ना जा
ऐसे तू नज़रें बचा के ना जा
तौबा मेरी तू कहां खो गया
मेरे सनम तुझको क्या हो गया
प्यार हुआ ना रे मामा..

देर से हुआ, पर प्यार तो हुआ रे – Der Se Hua (Hum Ho gaye Aapke)


फ़िल्म: हम हो गये आपके (2001)
संगीतकार: नदीम-श्रवण
गीतकार: समीर
गायक/गायिका: कुमार सानू, अल्का याग्निक


देर से हुआ, पर प्यार तो हुआ रे
ओ दिलरुबा, तूने दिल ले लिया रे हो
देर से हुआ…

क्या है मोहब्बत ये मुझको बताया
इन धड़कनों को धड़कना सिखाया
बेचैनियां दी मेरे प्यासे दिन को
रातों को तूने तड़पना सिखाया
मुश्किल बड़ा इंतज़ार हुआ रे
ओ दिलरुबा तूने…

आंखों से नींदें चुराता नहीं था
दर्द-ए-जिगर को बढ़ाता नहीं था
तनहा अकेली थी ये ज़िन्दगानी
कोई ख्यालों में आता नहीं था
ये हाल तो पहली बार हुआ रे
ओ दिलरुबा तूने…

मेरे ख्यालों में आवारगी थी
चाहत में ना कोई दीवानगी थी
कागज़ के फूलों में खुशबू नहीं थी
वीराना ख़्वाबों सी ये ज़िन्दगी थी
मुझको तेरा ऐतबार हुआ रे
ओ दिलरुबा तूने…