जाने क्या बात है, जाने क्या बात है – Jaane Kya Baat Hai (Sunny)


फ़िल्म: सनी (1984)
संगीतकार: आर.डी.बर्मन
गीतकार: आनंद बक्षी
गायक/गायिका: लता मंगेशकर


जाने क्या बात है, जाने क्या बात है
नींद नहीं आती बड़ी लम्बी रात है
जाने क्या बात…

सारी सारी रात मुझे इसने जगाया
जैसे कोई सपना, जैसे कोई साया
कोई नहीं लगता है, कोई मेरे साथ है
जाने क्या बात…

धक-धक कभी से जिया डोल रहा है
घूंघट अभी से मेरा खोल रहा है
दूर अभी तो पिया की मुलाक़ात है
जाने क्या बात…

जब-जब देखूं मैं ये चांद सितारे
ऐसा लगता है मुझे लाज के मारे
जैसे कोई डोली, जैसे बारात है
जाने क्या बात…

Advertisements

तुमसे मिलके ज़िन्दगी को यूं लगा – Tumse Milke Zindagi Ko Yun Laga (Chor Police)


फ़िल्म: चोर पुलिस (1983)
संगीतकार: आर.डी.बर्मन
गीतकार: निदा फाज़ली
गायक/गायिका: लता मंगेशकर


तुमसे मिलके ज़िन्दगी को यूं लगा
जैसे हमको सारी दुनिया मिल गयी
दिल में जागी धड़कनों की रागिनी
हर तमन्ना फूल बनके खिल गयी
तुमसे मिलके ज़िंदगी…

होंठों से वादे लिखें, आंखों से आंखें पढ़ें
टूटे ना ये चाहतों का सिलसिला
तुमसे मिलके ज़िन्दगी…

बागों में मौसम खुले, ख़्वाबों के चेहरे धुले
तुमसे पहले हर खुशी थी बेवजह
तुमसे मिलके ज़िंदगी…

मुझसे भला ये काजल तेरा – Mujhse Bhala Ye Kaajal Tera (The Train)


फ़िल्म: द ट्रेन (1970)
संगीतकार: आर.डी.बर्मन
गीतकार: आनंद बक्षी
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी, लता मंगेशकर


मुझसे भला ये काजल तेरा
नैन बसे दिन-रैन
नि सोनिए, नि सोनिए
ओ छोड़ बेदर्दी आंचल मेरा
हो गई मैं बेचैन
वे सोनेया, वे सोनेया

नाम की तू है मेरी सजनिया, नाम का मैं हूं तेरा पिया
रेशमी लट से खेले ये गजरा, दूर से तरसे मेरा जिया
ना ना, हां हां
तौबा, तौबा कैसी
नाम है प्रेमी पागल तेरा, तो संग लागे नैन
वे सोनेया, वे सोनेया
मुझसे भला ये…

प्रेम-गली में होगा न बलमा, तुझसा दीवाना और कोई
चैन उड़ाना, नींद चुराना, सीखे ये तुझसे चोर कोई
ना ना, हां हां
गोरी, क्या है सैंया
हां, आप हूं मैं तो घायल तेरा, तड़पूं सारी रैन
नि सोनिए, नि सोनिए
छोड़ बेदर्दी आंचल…

चाहे पवन हो, चाहे किरण हो, छूने न दूंगा तेरा बदन
जलता है मन तो, मन में छुपा के, रख ले मुझे तू मेरे सजन
ना ना, हां हां
रानी, क्या है राजा
हां रूप, बरसता बादल तेरा, प्यासे मेरे नैन
नि सोनिए, नि सोनिए
छोड़ बेदर्दी आंचल…

जाने कैसे कब कहां इकरार हो गया – Jaane Kaise Kab Kahan (Shakti)


फ़िल्म/एल्बम: शक्ति (1982)
संगीतकार: आर.डी.बर्मन
गीतकार: आनंद बक्षी
गायक/गायिका: लता मंगेशकर, किशोर कुमार


जाने कैसे, कब कहां, इकरार हो गया
हम सोचते ही रह गये, और प्यार हो गया

गुलशन बनी, गलियां सभी
फूल बन गई, कलियां सभी
लगता है मेरा सेहरा तैयार हो गया
हम सोचते ही…

तुमने हमे बेबस किया
दिल ने हमे धोखा दिया
उफ़ तौबा जीना कितना दुश्वार हो गया
हम सोचते ही…

हम चुप रहे, कुछ ना कहा
कहने को क्या, बाकी रहा
बस आंखों ही आंखों में इज़हार हो गया
हम सोचते ही…

कोई आया आने भी दे – Koi Aaya Aane Bhi De (Kala Sona)


फ़िल्म/एल्बम: काला सोना (1975)
संगीतकार: आर.डी.बर्मन
गीतकार: मजरूह सुल्तानपुरी
गायक/गायिका: आशा भोंसले


कोई आया, आने भी दे
कोई गया, जाने भी दे
तुझको तो है मस्ती में जीना, जी ले
कोई आया, कोई आया…

तू तो है दीवाना, बहके जा, महके जा
ख़ुशी के नशे में, ऐसे ही मज़े में, आहा
महफ़िल में रंग भरता जा सुबह तलक रंगीले
कोई आया, आने भी दे…

झूमे जा मस्ताने, छेड़े जा तराने
कल क्या हो क्या जाने, जाने ये तुम्हारी बला
आगे भी होने दे अंधेरा, सपने तो हैं चमकीले
कोई आया, आने भी दे…