जाने कैसे कब कहां इकरार हो गया – Jaane Kaise Kab Kahan (Shakti)


फ़िल्म/एल्बम: शक्ति (1982)
संगीतकार: आर.डी.बर्मन
गीतकार: आनंद बक्षी
गायक/गायिका: लता मंगेशकर, किशोर कुमार


जाने कैसे, कब कहां, इकरार हो गया
हम सोचते ही रह गये, और प्यार हो गया

गुलशन बनी, गलियां सभी
फूल बन गई, कलियां सभी
लगता है मेरा सेहरा तैयार हो गया
हम सोचते ही…

तुमने हमे बेबस किया
दिल ने हमे धोखा दिया
उफ़ तौबा जीना कितना दुश्वार हो गया
हम सोचते ही…

हम चुप रहे, कुछ ना कहा
कहने को क्या, बाकी रहा
बस आंखों ही आंखों में इज़हार हो गया
हम सोचते ही…

Advertisements

कोई आया आने भी दे – Koi Aaya Aane Bhi De (Kala Sona)


फ़िल्म/एल्बम: काला सोना (1975)
संगीतकार: आर.डी.बर्मन
गीतकार: मजरूह सुल्तानपुरी
गायक/गायिका: आशा भोंसले


कोई आया, आने भी दे
कोई गया, जाने भी दे
तुझको तो है मस्ती में जीना, जी ले
कोई आया, कोई आया…

तू तो है दीवाना, बहके जा, महके जा
ख़ुशी के नशे में, ऐसे ही मज़े में, आहा
महफ़िल में रंग भरता जा सुबह तलक रंगीले
कोई आया, आने भी दे…

झूमे जा मस्ताने, छेड़े जा तराने
कल क्या हो क्या जाने, जाने ये तुम्हारी बला
आगे भी होने दे अंधेरा, सपने तो हैं चमकीले
कोई आया, आने भी दे…

सुन नीता मैं तेरे प्यार – Sun Neeta Main Tere Pyar (Dil Diwana)


फ़िल्म/एल्बम: दिल दीवाना (1974)
संगीतकार: आर.डी.बर्मन
गीतकार: आनंद बक्षी
गायक/गायिका: किशोर कुमार


सुन नीता, सुन नीता
मैं तेरे प्यार के गीत गाने लगा हूं
महफ़िल को
अनजाने अफ़साने सुनाने लगा हूं
सुन नीता मैं तेरे प्यार…

तूने मुझे कभी दिल दिया
मैंने तुझे कभी दिल दिया
क्या याद नहीं
गुज़री हुई वो रातें तेरी
भूली हुई वो बातें तेरी
तुझको याद दिलाने लगा हूं
सुन नीता मैं तेरे प्यार…

तुझको नया सनम मिल गया
मुझको नया ये ग़म मिल गया
ये खूब हुआ
शर्माने घबराने लगी
तू उठ कर क्यूं जाने लगी
महफ़िल से मैं जाने लगा हूं
सुन नीता मैं तेरे प्यार…

ओ दीवानों दिल संभालो – O Deewanon Dil Sambhalo (The Great Gambler)


फ़िल्म/एल्बम: द ग्रेट गैम्बलर (1979)
संगीतकार: आर.डी.बर्मन
गीतकार: आनंद बक्षी
गायक/गायिका: आशा भोंसले


ओ दिल दीवानों दिल संभालो
दिल चुराने आई हूं मैं
तुम न मानो
आग पानी में लगाने आई हूं मैं
नरगिसी आंखों से, शबनमी गालों से, रेश्मी बालों से
ओ दीवानों दिल संभालो…

पास आते बड़े ही खूबसूरत बहानों से
मैं करूंगी यूं ही दो-चार बातें दीवानों से
और शर्माऊंगी, लूट ले जाऊंगी, फिर नहीं आऊंगी
दिल चुराने आई हूं मैं
ओ दीवानों दिल संभालो…

देख लेना अभी जादू चलेगा निगाहों का
दिल्लगी में खबर तुमको न होगी मोहब्बत क्या
बातों ही बातों में, इन मुलाकातों में, इन हसीं रातों में
तुम न मानो
आग पानी में लगाने आई हूं मैं…

धीरे धीरे ज़रा ज़रा – Dheere Dheere Zara Zara (Agar Tum Na Hote)


फ़िल्म/एल्बम: अगर तुम न होते (1983)
संगीतकार: आर.डी.बर्मन
गीतकार: गुलशन बावरा
गायक/गायिका: आशा भोंसले


धीरे-धीरे, ज़रा-ज़रा
जान-ए-जानां, होने लगा
तेरी मीठी बातों पे यकीं
धीरे-धीरे-ज़रा ज़रा…

कल तक मेरा दिल न माना
तू क्या है ये आज ही जाना
अब दिल पिघलने लगा
तूने छेड़ा तार ऐसा
जान-ए-जानां होने लगा
तेरी मीठी बातों पे…

अब जी भर के प्यार करेंगे
संग जियेंगे, संग मरेंगे
ये फ़ैसला कर लिया
कभी-कभी, ज़रा-ज़रा
जान-ए-जानां मुझे हुआ
तेरी मीठी बातों पे यकीं
अभी-अभी, पूरा-पूरा
जान-ए-जानां हो ही गया
तेरी मीठी बातों पे यकीं…