तेरा फ़ितूर, जब से चढ़ गया रे – Tera Fitoor Jab Se Chadh Gaya (Genius)



फ़िल्म: जीनियस (2018)
संगीतकार: हिमेश रेशमिया
गीतकार: कुमार
गायक/गायिका: अरिजीत सिंह


तेरा फ़ितूर, जब से चढ़ गया रे
तेरा फ़ितूर, जब से चढ़ गया रे
इश्क़ जो ज़रा सा था, वो बढ़ गया रे
तेरा फ़ितूर…

तू जो मेरे संग चलने लगे
तो मेरी राहें धड़कने लगे
देखूं जो ना इक पल मैं तुम्हें
तो मेरी बाहें तड़पने लगे
इश्क़ जो ज़रा सा…

हाथों से, लकीरें यही कहती हैं
के ज़िन्दगी जो है मेरी
तुझी में अब रहती है
लबों पे लिखी है मेरे दिल की ख़्वाहिश
लफ़्ज़ों में कैसे मैं बताऊं
इक तुझको ही पाने की ख़ातिर
सबसे जुदा मैं हो जाऊं
कल तक मैंने जो भी ख़्वाब थे देखे
तुझमें वो दिखने लगे
इश्क़ जो ज़रा सा…

सांसों के, किनारे बड़े तनहा थे
तू आ के इन्हें छू ले बस
यही तो मेरे अरमां थे
सारी दुनिया से मुझे क्या लेना है
बस तुझको ही पहचानूं
मुझको ना मेरी अब ख़बर हो कोई
तुझसे ही खुद को मैं जानूं
रातें नहीं कटती बेचैन से हो के
दिन भी गुज़रने लगे
इश्क़ जो ज़रा सा…

Advertisements

ऐ वतन मेरे वतन – Aye Watan Mere Watan (Raazi)



फ़िल्म: राज़ी (2018)
संगीतकार: शंकर-एहसान-लॉय
गीतकार: गुलज़ार, अल्लमा इकबाल
गायक/गायिका: अरिजीत सिंह, सुनिधि चौहान


ऐ वतन वतन मेरे आबाद रहे तू
मैं जहां रहूं जहां में याद रहे तू
ऐ वतन मेरे वतन…

तू ही मेरी मंज़िल है पहचान तुझी से
पहुंचूं मैं जहां भी मेरी बुनियाद रहे तू
ऐ वतन मेरे वतन…

तुझपे कोई ग़म की आंच आने नहीं दूं
क़ुर्बान मेरी जान तुझपे शाद रहे तू
ऐ वतन मेरे वतन…

लब पे आती है, दुआ बन के तमन्ना मेरी
ज़िन्दगी शम्मा की सूरत हो खुदाया मेरी
ऐ वतन मेरे वतन…

चल वे तू बंदेया उस गलिए – Chal Ve Tu Bandeya (Dil Juunglee)



फ़िल्म: दिल जंगली (2018)
संगीतकार: शारिब-तोशी
गीतकार: देवेंद्र काफिर
गायक/गायिका: अरिजीत सिंह


चल, चल वे तू बंदेया उस गलिए
जहां कोई किसी को ना जाने
क्या रहना वहां पर सुण बंदेया
जहां अपने ही ना पहचाने
रह गये हैं जो तुझमें
मेरे लम्हें लौटा दे
मेरी आंखों में आ के
मुझे थोड़ा रुला दे
चल, चल वे तू बंदेया…

ख्वाब जो हुए हैं खंडर
ख्वाब ही नहीं थे
इक नींद थी नींद सी हाये
खो दिया है तूने जिसको
तेरा ही नहीं था
इक हार थी जीत सी
कितना रुलाएगा ये तो बता
रब्बा वे तुझे है तेरे रब दा वास्ता
चल, चल वे तू बंदेया…

सपना जो था मेरा – Sapna Jo Tha Mera (Parmanu: The Story of Pokhran)



फ़िल्म: परमाण : द स्टोरी ऑफ पोखरण (2018)
संगीतकार: सचिन-जिगर
गीतकार: सचिन सांघवी
गायक/गायिका: अरिजीत सिंह


आंखें अभी खुली नहीं
क्यूं सबेरा हो गया
अभी शुरू हुआ नहीं
क्यूं ख़तम ये हो गया
सपना जो था मेरा, खो ही गया
सपना जो था…

उस ख्वाब में सौगातें थी
कुछ प्यारी सी सौगातें
भूल ना पाऊंगा जिनको
ऐसी थी कुछ यादें
लाख कोशिशें की मैंने
लाख कोशिशें की
पर ख्वाब जो था मेरा, खो ही गया
सपना जो था…

All Songs of Parmanu: The Story of Pokhran (2018)


All Songs of Parmanu: The Story of Pokhran (2018)


दे दे जगह – De De Jagah

फ़िल्म: परमाणु: द स्टोरी ऑफ पोखरण (2018)
संगीतकार: सचिन-जिगर
गीतकार: कुमार विश्वास
गायक/गायिका: यासेर देसाई

तू है सुबह, तू शाम है
जीने का तू ही है नज़रिया
तेरी लहर, आठों पहर
मैं बूंद तू ही मेरा दरिया
दुनिया से जुदा कर दे
ज़र्रे को खुदा कर दे
ओ तेरे इश्क से मुझको
ना करना कभी तू जुदा

कि अब मेरी सांस-सांस तेरे पास है
और तेरे आस-पास पहचान है अब मेरी
दिल में अपने दिल भर कर दे दे जगह
दे दे जगह
मेरी सांस सांस तेरे पास है
और तेरे आस-पास पहचान है अब मेरी
इतनी सी मेरे रब तुझसे है दुआ

जीता रहा ख्वाबों में मैं
खुद से ही पर दूर था
थोड़ा सा तू मजबूर था
थोड़ा मैं मजबूर था
ख्वाबों को जुबां कर दे
नज़रों से बयां कर दे
तेरे इश्क से मुझको
ना करना कभी तू जुदा
के अब मेरी सांस…


थारे वास्ते – Thare Vaaste

फ़िल्म: परमाणु: द स्टोरी ऑफ पोखरण (2018)
संगीतकार: सचिन-जिगर
गीतकार: वायु
गायक/गायिका: दिव्या कुमार

जोश में जला ज़लज़ला चला
अब रुकेंगे ना हम
डर मिटा चला, सर उठा चला
अब झुकेंगे ना हम
ओ थारे वास्ते रे माड़ी रे
जान लगा देंगे हम
थारे वास्ते रे माड़ी रे
दुनिया हिला देंगे हम
जोश में जला…

ओ इक प्यास आधी थी
इक आस प्यासी थी
इक क़र्ज़ दिल पे था रखा
पूरा हुआ अपना, टूटा सा वो सपना
चुभता जो आंखों में आया था
हो थारे वास्ते…
जोश में जला…


कसुम्बी रंग – Kasumbi Rang

फ़िल्म: परमाणु : द स्टोरी ऑफ पोखरण (2018)
संगीतकार: सचिन-जिगर
गीतकार: वायु
गायक/गायिका: दिव्या कुमार

मैया, लगेया लगेया मेनू, लगेया लगेया मेनू

सबसे पहले सबसे बढ़ के
दिल में मेरे है ये मेरा वतन
आसमां भी हार जाए
कर ले कोई जतन
मेनू लगेया, हो मेनू लगेया
हो मेनू लगेया लगेया
लागी लगेया लगेया
लागी लगेया कसुम्बी रंग
के ऐसा मेनू लगेया लगेया
लागी लगेया लगेया…

ज़िद पे जो अड़ जायेंगे
जग से भी भिड़ जायेंगे
आबरू इसकी रखने को
अब तो वारी जावां मैं ये जीवन
के ऐसा मेनू लगेया…

अपना लोहा माने दुनिया
ये बनाया है मन
सारा दमख़म डाल के हम
पूरा कर दें वचन
डर से ऊपर उठ गए सर
हौसले हैं बुलंद
इस इरादे को हिला दे
हर किसी में कहां है इतना दम
मेनू लगेया…
ज़िद पे जो अड़ जायेंगे…


जितनी दफा – Jitni Dafa

फ़िल्म: परमाणु: द स्टोरी ऑफ पोखरण (2018)
संगीतकार: जीत गांगुली
गीतकार: रश्मि विराग
गायक/गायिका: यासेर देसाई

जितनी दफ़ा देखूं तुम्हें धड़के ज़ोरों से
ऐसा तो कभी होता नहीं मिल के गैरों से
जितनी दफ़ा देखूं तुम्हें…

दूर जाना नहीं तुमको है कसम
खुद से ज़्यादा तुम्हें चाहतें हैं सनम
दूर जाना नहीं मुझसे ऐ सनम
खुद से ज़्यादा तुम्हें चाहते हैं सनम

दिल में जो भी है, तेरा ही तो है
चाहे जो मांग लो रोका किसने है
क़त्ल अगर करना हो, करना धीरे से
उफ़ भी नहीं निकलेगी मेरे होठों से
दूर जाना नहीं…


सपना जो था – Sapna Jo Tha

फ़िल्म: परमाण : द स्टोरी ऑफ पोखरण (2018)
संगीतकार: सचिन-जिगर
गीतकार: सचिन सांघवी
गायक/गायिका: अरिजीत सिंह

आंखें अभी खुली नहीं
क्यूं सबेरा हो गया
अभी शुरू हुआ नहीं
क्यूं ख़तम ये हो गया
सपना जो था मेरा, खो ही गया
सपना जो था…

उस ख्वाब में सौगातें थी
कुछ प्यारी सी सौगातें
भूल ना पाऊंगा जिनको
ऐसी थी कुछ यादें
लाख कोशिशें की मैंने
लाख कोशिशें की
पर ख्वाब जो था मेरा, खो ही गया
सपना जो था…


शुभ दिन आयो – Shubh Din Aayo

फ़िल्म: परमाणु: द स्टोरी ऑफ पोखरण (2018)
संगीतकार: सचिन-जिगर
गीतकार: वायु
गायक/गायिका: कीर्ति सगाथिया, ज्योतिका टांगरी

हे सुन उठा सूरज उगियो
और चारों मेर हुई झिलमिलाट
ते आया म्हारा पावणा
के स्वागत करां बेहिसाब

हे सजनी राहे मंगल गावें
मन उपजी फुलवारी
साजे गाजे बाजे गूंजे
सपनोरी ये किलकारी रे
वन उपवन अभिनन्दन करता
छायीं ढका पनिहारी रे
शक्कर फांको झांकी झांको
हुई जश्न की ये तैयारी रे

मन हरसायो, घन बरसायो
तन सुखवालो जी रे
आयो रे शुभ दिन आयो रे
आयो रे शुभ दिन…

शुभ दिन आयो, मण न भायो
नयो नयो सो रंग ले आयो
होठां प मुस्कान गुलाबी लायो रे
आयो रे शुभ दिन…

चंदा ला जो, दीपक ला जो
जगमग तारे लाई जो जी
खुशियां बांटूं दिल में सब के
साकर मिसरी भर दो जी
घर घूमर रसिया मीठा-मीठा गाओ रे
आयो रे शुभ दिन…

केसरियो रंगीलो आयो
सूरज सो चमकीलो आयो
ओ दिन ये प्यारो किस्मत वालो आयो रे

पधारो रे, पधारो जी ए
मंगल गावो, शुभ दिन आयो
बल बल जाओ, शुभ शुभ दिन आयो
मिसरी बांटो, शुभ दिन आयो
झूमो नाचो, शुभ शुभ दिन आयो
अरे लोक फुराओ, शुभ दिन आयो
रंग उड़ाओ, शुभ शुभ दिन आयो
फूल सजाओ, शुभ दिन आयो
जश्न मनाओ, शुभ दिन आयो
शुभ दिन आयो, शुभ दिन आयो
आयो जी