आ बेबी मेरी नचले ना – O Baby Mere Naal Nachle Na (Dil Juunglee)



फ़िल्म: दिल जंगली (2018)
संगीतकार: गुरु रंधावा, रजत नागपाल
गीतकार: गुरु रंधावा
गायक/गायिका: गुरु रंधावा, नीति मोहन


ओ ब्राउन तेरे बालां दा कलर सोणिये
हवा विच जांदे ने खिलर सोणिये
चढ़ गी तू जैसे हाए मिलर सोणिये
प्लीज़ मैनु तक ले ना
आ सोहनी कुड़ी नचले ना
आ बेबी मेरी नचले ना
आ मेरे नाल नचले ना
आ सोहनी कुड़ी…

स्लोली स्लोली पी सोणिये
हो जाएगी टल्ली
शॉट्स लगा के हॉट तू लगदी
देख के दिल हुआ जंगली
आ नॉटी नॉटी मारदी आए अंख सोणिये
सारेया नू पह गेया शक़ सोणिये
हाण दे आ मुंडेया तो बच सोणिये
तेनु कोई चक ले ना
आ सोहनी कुड़ी…

ऊंची मेरी हील सोणेया
टिक टोक करदी जावे
लाखां दा पर्फ्यूम हाए मेरा
मुंडेया नू तड़पावे
हाए ज़ुल्फां दे तेरे हाए पफ सोणिये
मुण्डेया ने ला लेने कश सोणिये
आ तोड़ दित्ते बोतलां दे कड सोणिये
नज़र भर तक ले ना
आ सोहनी कुड़ी…

नज़र भर तक लांगी
आ दिल तेरा रख लांगी
मैं तेरे नाल नच लांगी
आ सोहनी कुड़ी…

Advertisements

हीरिए नी नशा तेरा कर के – Heeriye Ni Nasha Tera Karke (Race 3)




फ़िल्म: रेस 3 (2018)
संगीतकार: मीत ब्रोस, अंजान
गीतकार: कुमार
गायक/गायिका: दीप मनी, नेहा भसीन


अखियां ते छाया रंग
तेरे ही ख़याल दा
दूजा कोई वेखेया ना
मैं तेरे नाल दा
अखियां ते छाया…

हीरिए, हीरिए नी नशा तेरा कर के
ना पूछ हमें क्या हो गया
ना पूछ हमें क्या हो गया
हीरिए नी नशा तेरा कर के
के रांझा ये तबाह हो गया
यू ब्लो माइ माइंड
के रांझा ये तबाह हो गया
यू ब्लो माइ माइंड
हीरिए नी नशा तेरा कर के
ना पूछ हूमें क्या हो गया
यू ब्लो माइ माइंड
के रांझा ये तबाह हो गया

आइ हैव बिन थिंकिंग अबाउट यू
आइ हैव बिन थिंकिंग अबाउट यू

तेरे ही सुरूर में, डूबा डूबा रहता हूं
तेरा ही कसूर है ये, बार बार कहता हूं
इक तेरा नाम रहे मेरी ज़ुबान पे
जैसे चांद रहता है उस आसमान पे
हीरिए, हीरिए नी तुझपे ही मर के
ना पूछ हमें क्या हो गया…

तुझसे ही दिन शुरू, तुझसे ही रात है
मिले ना किताबों में जो, तुझमें वो बात है
तूने ही तो चोरी चोरी मुझको चुराया वे
नींदों को पतंग किया रातों को जगाया वे
हीरिए, हीरिए तेरी आंखों में उतर के
ना पूछ हमें क्या हो गया
ना पूछ हमें क्या हो गया
हीरिए नी नशा तेरा करके
कर के कर के, कट इट कट इट, कर के
के रांझा ये तबाह…

जवां है मोहब्बत समझ लो इशारा – Jawan Hai Mohabbat (Fanney Khan)



फ़िल्म: फन्ने खां (2018)
संगीतकार: तनिष्क बागची
गीतकार: इरशाद कामिल
गायक/गायिका: सुनिधि चौहान


हाज़िर है, हुस्न
इश्क की महफ़िल में
आज फिर, हाज़िर है हुस्न

आओ यहां शरीफों ज़रा
तुम्हें मैं शराफत भुला दूं
सारी शरम मिटा दोगे तुम
अगर मैं शरारत पिला दूं
हाज़िर हुस्न खज़ाना सारा
ज़ाहिर इश्क इरादा, करूं दोबारा
जवां है मोहब्बत समझ लो इशारा
अकेले अकेले ना होगा गुज़ारा
जवां है मोहब्बत…

हुस्न है पहली मंज़िल
इश्क जो करता हासिल
कोई न जाने आगे जाना कहां
रूह को छूना मुश्किल
छू के भी क्या है हासिल
रूहें दो बाहों में ना आती यहां
आख़िर, गले लगा ले यारा
ऐसा कहां मिलेगा, तुम्हें नज़ारा
जवां है मोहब्बत…

रात होने से पहले
आजा हम दोनों बह लें
दो चार दिन की तो है, ये ज़िंदगी
प्यार का देख नतीजा
घोल के मुझको पी जा
होने दे सोची समझी आवारगी
देखूं, कहां-कहां से मीठा
है तू कहां-कहां से, लगे तू खारा
जवां है मोहब्बत…

तेरे नाम की कोई धड़क है ना – Dhadak Title Song (Dhadak)



फ़िल्म: धड़क (2018)
संगीतकार: अजय-अतुल
गीतकार: अमिताभ भट्टाचार्य
गायक/गायिका: अजय गोगावाले, श्रेया घोषाल


मरहमी सा चांद है तू
दिलजला सा मैं अंधेरा
एक दूजे के लिए हैं
नींद मेरी ख्वाब तेरा
तू घटा है फ़ुहार की
मैं घड़ी इंतज़ार की
अपना मिलना लिखा
इसी बरस है ना

जो मेरी मंज़िलों को जाती है
तेरे नाम की कोई सड़क है ना
जो मेरे दिल को दिल बनाती है
तेरे नाम की कोई धड़क है ना

कोई बांधनी जोड़ा ओढ़ के
बाबुल की गली, आऊं छोड़ के
तेरे ही लिए, लाऊंगी पिया
सोलह साल के सावन जोड़ के
प्यार से थामना, डोर बारीक है
सात जन्मों की ये, पहली तारीख है
डोर का एक मैं सिरा
और तेरा है दूसरा
जुड़ सके बीच में कई तड़प है ना
जो मेरी मंज़िलों को…

जिंग जिंग जिंगाट – Zingaat Song (Dhadak)



फ़िल्म: धड़क (2018)
संगीतकार: अजय-अतुल
गीतकार: अमिताभ भट्टाचार्य
गायक/गायिका: अजय-अतुल


केसरिया म्हारो बलमा
पधारो म्हारी कंट्री मा रे
आओ पधारो
केसरिया म्हारो बालमा
पधारो म्हारी कंट्री मा रे
आओ पधारो ना रे
जिंग जिंग जिंग जिंग

हे धड़क चिक धूम धड़कन बोले
जब तू छत पे आए
नैन लड़ा के तुझसे मन मंदिर में
जिंगल बेल हो जाए
धूम धड़क चिक धूम धड़कन…

तेरा हसीन चेहरा आहा
मेरे लबों से निकला वाहा
ढूंढ गूगल पे जा के
मिलेगा मजनू मेरे जैसा कहां
पूरी पलटन के साथ
लेके बारात बलमा ये तेरा
नाचे जिंग जिंग जिंग जिंग जिंग जिंगाट
जिंग जिंग जिंग…

आया दस किलोमीटर पैदल चल के मैं तेरी गली
मुझको पानी भी ना पूछा ख़ुद मोटर साइकल पे चली
तू सहेली के संग जा के, रेस्ट्रॉंट में पिज्जा खाए
धूप में बाहर बैठा-बैठा, मैं चुगता हूं मूंगफली
चली तेरी सवारी जहां, संग चला मैं तेरे वहां
फ़ैन हूं बेबी तेरा, लगा हूं पीछे दुम छल्ले की तरह
चाहे जितना भी डांट, छोड़े ना साथ
बलमा ये तेरा
नाचे जिंग जिंग…

भेजूं मम्मी-डैडी को घर तेरे ले के मेरा रिश्ता
हो शगुन में काजू-पिस्ता, चूड़ी कंगन विद गुलदस्ता
चाय बिस्कुट से मुंह मीठा कर के शादी गर हो जाए
ना मिलेगा तेरे घरवालों को दूल्हा इतना सस्ता
बाक़ी तमाम रिश्ते हटा, पतली गली से उनको कटा
और सजा के मंडप तेरे बग़ल में, गोरी मुझको बिठा
दे दे हाथों में हाथ, बन जाए बात
बलमा ये तेरा
नाचे जिंग जिंग…