मैं हूँ साक़ी तू है शराबी-शराबी – Main Hoon Saqi Tu Hai Sharabi-Sharabi


फ़िल्म: राम और श्याम / Ram Aur Shyam (1967)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी, लता मंगेशकर
संगीतकार: नौशाद
गीतकार: शकील बदांयुनी
अदाकार: वहीदा रहमान, प्राण, मुमताज़, दिलीप कुमार


मैं हूँ साक़ी तू है शराबी-शराबी – 2
तूने आँखों से पिलाई वो नशा है के दुहाई
हर तरफ़ दिल के चमन में फूल खिले हैं गुलाबी-गुलाबी
मैं हूँ साक़ी…

इश्क़ में जीना स.म्भल के दिल का पैमाना ना छलके
बहकी-बहकी तेरी नज़रें ख़्वाब दिखलाती हैं कल के – 2
तेरी महफ़िल में ओ साक़ी हम चले आए नशे में
अब तो बस ये है तमन्ना उम्र कट जाए नशे में – 2
इश्क़ है तेरी सवाली – 2
हुस्न है मेरा जवाबी-जवाबी
तू है साक़ी मैं हूँ शराबी-शराबी

मैं तेरी दुनिया में आ के रह गया खुद को भुला के
क्या हो अन्जाम ना जाने होश उल्फ़त में गंवा के – 2
बेखुदी के ये तराने यूँ ही गाए जा दीवाने
इश्क़ रंग लाएगा अपना आ गए अब वो ज़माने – 2
तेरी मस्तानी ये बातें
आ आ
तेरी मस्तानी ये बातें दिल पे लाएँ ना ख़राबी-ख़राबी
मैं हूँ साक़ी…

Advertisements

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s