वो हँस के मिले हमसे हम प्यार समझ बैठे – Woh Hans Ke Mile Hamse


फ़िल्म: बहारें फिर भी आएंगी / Baharen Phir Bhi Aayengi (1966)
गायक/गायिका: आशा भोंसले
संगीतकार: ओ. पी. नय्यर
गीतकार: एस. एच बिहारी
अदाकार: धर्मेंद्र, तनुजा, माला सिन्हा


वो हँस के मिले हमसे हम प्यार समझ बैठे
बेकार ही उल्फ़त का इज़हार समझ बैठे
वो हँस के मिले…

ऐसी तो न थी क़िस्मत अपना भी कोई होता – 2
अपना भी कोई होता
क्यूँ ख़ुद को मुहब्बत का हक़दार समझ बैठे
वो हँस के मिले…

रोएँ तो भला कैसे खोलें तो ज़ुबाँ क्यूँ कर – 2
खोलें तो ज़ुबाँ क्यूँ कर
डरते हैं कि जाने क्या संसार समझ बैठे
बेकार ही उल्फ़त का…

Advertisements

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s