अगर तेरी जलवा-नुमाई न होती – Agar Teri Jalwa Numaai Na Hoti (Beti Bete)

फ़िल्म: बेटी-बेटे / Beti Bete (1964)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी, सुमन कल्याणपुर
संगीतकार: शंकर-जयकिशन
गीतकार: हसरत जयपुरी
अदाकार: सुनील दत्त, जमुना, बी. सरोजा देवी



(अगर तेरी जलवा-नुमाई न होती
ख़ुदा की क़सम ये ख़ुदाई न होती) – 2
(अगर आँख तुमने मिलाई न होती
मेरी ज़िन्दगी मुस्कराई न होती) – 2

बहारों का मौसम न होता सुहाना
तेरे दम क़दम से हुआ आशिक़ाना
नज़ारों में ये दिलरुबाई न होती
ख़ुदा की क़सम…

तेरे प्यार ने मुझ पर एहसाँ किया है
मेरा दिल लिया है मुझे दिल दिया है
अगर तूने उल्फ़त निभाई न होती
मेरी ज़िन्दगी मुस्कराई…

अगर नूर तेरा न आता जहाँ में
तो रखा ही क्या था ज़मीं आसमाँ में
कि मालिक ने दुनिया बनाई न होती
ख़ुदा की क़सम…

Advertisements

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s