पाँव छू लेने दो फूलों को इनायत होगी – Paon Chhoo Lene Do (Taj Mahal)

फ़िल्म: ताज महल / Taj Mahal (1963)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी, लता मंगेशकर
संगीतकार: रोशन
गीतकार: साहिर लुधियानवी
अदाकार: प्रदीप कुमार, बीना राय



पाँव छू लेने दो फूलों को इनायत होगी, इनायत होगी
वरना हमको नहीं, इनको भी शिकायत होगी
शिकायत होगी

आप जो फूल बिछाएं उन्हें हम ठुकराएं – 2
हमको डर है
हमको डर है के ये तौहीन-ए-मुहब्बत होगी, मुहब्बत होगी
पाँव छू लेने दो…

दिल की बेचैन उमंगों पे करम फ़रमाओ – 2
इतना रुक रुक
इतना रुक रुक के चलोगे तो क़यामत होगी, क़यामत होगी
पाँव छू लेने दो…

शर्म रोके है इधर, शौक उधर खींचे है – 2
क्या खबर थी
क्या खबर थी तभी इस दिल की ये हालत होगी
ये हालत होगी
पाँव छू लेने दो…

शर्म गैरों से हुआ करती है अपनों से नहीं – 2
शर्म हम से
शर्म हम से भी करोगे तो मुसीबत होगी, मुसीबत होगी
पाँव छू लेने दो…

Advertisements

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s