फिर वही दिल लाया हूं – Songs of Phir Wohi Dil Laya Hoon (1963)



फ़िल्म: फिर वही दिल लाया हूं / Phir Wohi Dil Laya Hoon (1963)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार: ओ. पी. नय्यर
गीतकार: मज़रूह सुल्तानपुरी
अदाकार: आशा पारेख, जॉय मुखर्जी

आँचल में सजा लेना कलियाँ, ज़ुल्फ़ों में सितारे भर लेना
ऐसे ही कभी जब शाम ढले, तब याद हमें भी कर लेना
आँचल में सजा लेना कलियाँ

आया था यहाँ बेगाना सा
आया था यहाँ बेगाना सा, चल दूंगा कहीं दीवाना सा
चल दूंगा कहीं दीवाना सा
दीवाने की खातिर तुम कोई, इल्ज़ाम ना अपने सर लेना
ऐसे ही कभी जब शाम ढले, तब याद हमें भी कर लेना
आँचल में सजा लेना कलियाँ

रस्ता जो मिले अंजान कोई
रस्ता जो मिले अंजान कोई, आ जाए अगर तूफ़ान कोई
आ जाए अगर तूफ़ान कोई
अपने को अकेला जान के तुम
आँखों में न आंसू भर लेना
ऐसे ही कभी जब शाम ढले, तब याद हमें भी कर लेना
आँचल में सजा लेना कलियाँ


फ़िल्म: फिर वही दिल लाया हूं / Phir Wohi Dil Laya Hoon (1963)
गायक/गायिका: आशा भोंसले
संगीतकार: ओ. पी. नय्यर
गीतकार: मज़रूह सुल्तानपुरी
अदाकार: आशा पारेख, जॉय मुखर्जी

आँखों से जो उतरी है दिल में
तसवीर है एक अन्जाने की
खुद ढूँढ रही है शमा जिसे
क्या बात है उस परवाने की
आँखों से जो उतरी है दिल में…

वो उसके लबों पर शोख हँसी
रँगीन शरारत आँखों में
साँसों में मोहब्बत की ख़ुशबू
वो प्यार की धड़कन बातोन में
दुनिया मेरी… बदल गयी
बनके घटा निकल गयी
तौबा वो नज़र मस्ताने की
खुद ढूँढ रही है शमा जिसे
क्या बात है उस परवाने की
आँखों से जो उतरी है दिल में…

अंदाज़ वो उसके आने का
चुपके से बहार आये जैसे
कहने को घड़ी भर साथ रहा
पर उमर गुज़ार आये जैसे
उनके बिना… रहूनँगी नहीं
किस्मत से अब जो कहीं मिल जाये खबर दीवाने की
खुद ढूँढ रही है शमा जिसे
क्या बात है उस परवाने की
आँखों से जो उतरी है दिल में…


फ़िल्म: फिर वही दिल लाया हूं / Phir Wohi Dil Laya Hoon (1963)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार: ओ. पी. नय्यर
गीतकार: मज़रूह सुल्तानपुरी
अदाकार: आशा पारेख, जॉय मुखर्जी

अजी क़िब्ला मोहतरमा कभी शोला कभी नग्मा
इस आप के अंदाज़ का हाय क्या कहना
अजी क़िब्ला मोहतरमा…

उफ़ ये ग़ुस्सा काली आँखें हो रही हैं गुलाबी
आपकी तो ये अदा है हर किसी की ख़राबी
अरे रे रे रे
मैने तुम्हें देखा सिर्फ़ देखा मानिए कहना – 2
अजी क़िब्ला मोहतरमा…

आरज़ू थी चंद लम्हें यूँ ही चलते-फिरते
बे-तकल्लुफ़ हो के तुमसे चंद बातें करते
तुम जो हसीं थे दिल ने चाहा साथ ही रहना – 2
अजी क़िब्ला मोहतरमा…


फ़िल्म: फिर वही दिल लाया हूं / Phir Wohi Dil Laya Hoon (1963)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार: ओ. पी. नय्यर
गीतकार: मज़रूह सुल्तानपुरी
अदाकार: आशा पारेख, जॉय मुखर्जी

बन्दा परवर थाम लो जिगर बन के प्यार फिर आया हूँ
ख़िदमत में आपके हुज़ूर, फिर वही दिल लाया हूँ

जिस की तड़प से रुख पे तुम्हारे आया निखार गज़B का
जिसके लहू से और भी चमका रंग तुम्हारे लब का
गेसू खुले ज़ंजीर बने
और भी तुम तसवीर बने
आइना दिलदार का
नज़राना प्यार का
फिर वही दिल लाया हूँ…

मेरी निगाह-ए-शौक़ से बचकर यार कहाँ जाओगे
पाँव जहाँ रख दोगे अदा से, दिल को वहीं पाओगे
जाऊँ कहीं ये ख़याल कहाँ
रहूँ जुदा ये मजाल कहाँ
आइना दिलदार का
नज़राना प्यार का
फिर वही दिल लाया हूँ…


फ़िल्म: फिर वही दिल लाया हूं / Phir Wohi Dil Laya Hoon (1963)
गायक/गायिका: आशा भोंसले
संगीतकार: ओ. पी. नय्यर
गीतकार: मज़रूह सुल्तानपुरी
अदाकार: आशा पारेख, जॉय मुखर्जी

देखो बिजली डोले बिन बादल की – 2
चम-चम चमके माथे की बिन्दिया
छनन-छनन धुन पायल की
देखो बिजली डोले…

रंग रुपहला जलवे सुनहरे – 2
ठहरें तो कैसे पग नहीं ठहरें
झलक दिखाते हुए कई बल खाए
डारे नज़र हल्की-हल्की
देखो बिजली डोले…

गिरती-संभलती चली मतवारी – 2
हँस के उछल पड़ी जैसे चिन्गारी
गिरी कब दिल पे गई कब दिल से
दुनिया रही रे अँखियाँ मलती
देखो बिजली डोले…


फ़िल्म: फिर वही दिल लाया हूं / Phir Wohi Dil Laya Hoon (1963)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी, आशा भोंसले
संगीतकार: ओ. पी. नय्यर
गीतकार: मज़रूह सुल्तानपुरी
अदाकार: आशा पारेख, जॉय मुखर्जी

दूर बहुत मत जाइये, लेके क़रार हमारा
ऐसा न हो, कोई लूट ले, राह में प्यार हमारा

पास रहो या दूर तुम, तुम हो साथ हमारे
देंगे गवाही पूछ लो, ये ख़ामोश नज़ारे

(नाज़नीं बड़ा रँगीं है वादा तेरा
ओ हसीं, है किधर का इरादा तेरा)    – 2
आँख मुड़ती हुई, ज़ुल्फ़ उड़ती हुई
फ़ासला क्यों है ज़्यादा तेरा
ओ हमदम मेरे, खेल न जानो चाहत के इक़रार को
जान-ए-जहाँ, याद करोगे, इक दिन मेरे प्यार को

छाये हो, मेरे दिल पे, नज़र पे तुम्हीं
आज तो, मेरी उल्फ़त का कर लो यकीं
ए जी हमसे तुम्हें एक लगावट तो है
तुम्हें हमसे मुहोब्बत नहीं

(हमसफ़र, तू ही मेरा है लेकिन सनम
साथ में, हैं किसी अजनबी के कदम)    – 2
मेरी उलझन यूँही बेसबब तो नहीं
दिल की बेताबियों की कसम, ओ

हमदम मेरे, खेल न जानो, चाहत के इक़रार को
जान-ए-जहाँ, याद करोगे, इक दिन मेरे प्यार को


फ़िल्म: फिर वही दिल लाया हूं / Phir Wohi Dil Laya Hoon (1963)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार: ओ. पी. नय्यर
गीतकार: मज़रूह सुल्तानपुरी
अदाकार: जॉय मुखर्जी

लाखों हैं निगाह में, ज़िंदगी की राह में
सनम हसीन जवाँ
होठों में गुलाब है, आँखों में शराब है
लेकिन वो बात कहाँ

(लट है किसी की जादू का जाल
रंग डाले किसी पे किसी का जमाल) – 2
तौबा ये निगाहें, के रोकती है राहें
ले लेके तीर कमान
लाखों हैं निगाह में…

(जानूं ना दीवाना मैं दिल का
कौन है खयालों की मलिका) – 2
भीगी भीगी रुत की छाओं तले
मन को कहीं वो आन मिले
कैसे पहचानूँ, कि नाम नहीं जानूँ
ढूँढे मेरे अरमान
लाखों हैं निगाह में…

(कभी कभी वो एक मह-जबीं
डोलती है दिल के पास कहीं) – 2
के हैं जो यही बातें
तो होंगी मुलाकातें
कभी वहाँ नहीं तो यहाँ

हाय, लाखों हैं निगाह में…


फ़िल्म: फिर वही दिल लाया हूं / Phir Wohi Dil Laya Hoon (1963)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी, आशा भोंसले
संगीतकार: ओ. पी. नय्यर
गीतकार: मज़रूह सुल्तानपुरी
अदाकार: आशा पारेख, जॉय मुखर्जी

ज़ुल्फ़ की छाओँ में चेहरे का उजाला लेकर
तेरी वीरान सी रातों को सजाया हमने
मेरी रातों में जलाये तेरे जलवों ने चराग़
तेरी रातों के लिये दिल को जलाया हमने

ये तेरे गर्म से लब ये तेरे जलते रुख़सार – 2
देख हमको के बनाया है इन्हें दिल का करार
कैसे अंगारों को सीने से लगाया हमने
तेरी रातों के लिये दिल को जलाया हमने

हमने हर दिल को सिखाया है धड़कने का चलन – 2
दे के उल्फ़त की तड़प दे के मोहब्बत की जलन
तुझ से दीवाने को इंसान बनाया हमने
तेरी वीरान सी रातों को सजाया हमने

सीख ले रस्म-ए-वफ़ा हुस्न भी दीवानों से – 2
दास्ताँ अपनी भरी है इन्हीं अफ़सानों से
रख दिया सर को जहाँ फिर न उठाया हमने
तेरी रातों के लिये दिल को जलाया हमने

ज़ुल्फ़ की छाओँ में चेहरे का उजाला लेकर
तेरी वीरान सी रातों को सजाया हमने

Advertisements

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s