वो जो मिलते थे कभी – Woh Jo Milte The Kabhi Humse (Akeli Mat Jaiyo)

फ़िल्म: अकेली मत जइयो / Akeli Mat Jaiyo (1963)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: मदन मोहन
गीतकार: मज़रूह सुल्तानपुरी
अदाकार: आग़ा, राजेंद्र कुमार, मीना कुमारी, मीनू मुमताज



वो जो मिलते थे कभी हम से दीवानों की तरह
आज यूँ मिलते हैं जैसे कभी पहचान न थी

देखते भी हैं तो यूँ मेरी निगाहों में कभी
अजनबी जैसे मिला करते हैं राहों में कभी
इस क़दर उनकी नज़र हम से तो अंजान न थी
वो जो मिलते थे कभी…

एक दिन था कभी यूँ भी जो मचल जाते थे
खेलते थे मेरी ज़ुल्फ़ों से बहल जाते थे
वो परेशाँ थे मेरी ज़ुल्फ़ परेशान न थी
वो जो मिलते थे कभी…

वो मुहब्बत वो शरारत मुझे याद आती है
दिल में इक प्यार का तूफ़ान उठा जाती थी
थी मगर ऐसी तो उलझन में मेरी जान न थी
वो जो मिलते थे कभी…

Advertisements

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s