ख़ुश रहो अहल-ए-चमन – Khush Rahi Ahl-e-Chaman (Main Chup Rahungi)

फ़िल्म: मैं चुप रहूंगी / Main Chup Rahungi (1962)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार: चित्रगुप्त
गीतकार: राजेंद्र कृष्ण
अदाकार: सुनील दत्त, मीना कुमारी



ख़ुश रहो अहल-ए-चमन हम तो चमन छोड़ चले
ख़ुश रहो अहल-ए-चमन
ख़ाक़ परदेस की छानेंगे वतन छोड़ चले
ख़ुश रहो अहल-ए-चमन…

भूल जाना हमें हम याद के क़ाबिल ही नहीं – 2
क्या पता दें कि हमारी कोई मंज़िल ही नहीं
अपनी तक़दीर के दरिया का तो साहिल ही नहीं
ख़ुश रहो अहल-ए-चमन…

कोई भूले से हमें पूछे तो समझा देना
एक बुझता हुआ दीपक उसे दिखला देना
आँख जो उसकी छलक जाए तो बहला देना
ख़ुश रहो अहल-ए-चमन…

रोज़ जब रात के आँचल में सितारे होंगे – 2
ये समझ लेना कि वो अश्क़ हमारे होंगे
और किस हाल में हम दर्द के मारे होंगे
ख़ुश रहो अहल-ए-चमन…

Advertisements

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s