दो अंखियाँ झुकी-झुकी सी – Do Ankhiyan Jhuki-Jhuki Si (Prem Patra)

फ़िल्म: प्रेमपत्र / Prem Patra (1962)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर, मुकेश
संगीतकार: सलिल चौधरी
गीतकार: राजेंद्र कृष्ण
अदाकार: शशि कपूर, साधना



दो अंखियाँ झुकी-झुकी सी – 2
कलियों से नाज़ुक होंठों पर कविता रुकी-रुकी सी
दो अंखियाँ झुकी…

शरमाती पलकों में सपने जब आँख-मिचौली खेलें
लहराती ज़ुल्फ़ें मुखड़े को साए में जब ले लें
इक ख़ुश्बू उड़ी-उड़ी सी
दो अंखियाँ झुकी…

मेरे दिल की ख़ामोशी में हलचल कौन मचाए
इक धुँधली सी तस्वीर बने और बनकर मिट जाए
इक हसरत दबी-दबी सी
दो अंखियाँ झुकी…

एक पल लागे अपनी-अपनी और दूजे पल बेगानी
कुछ अंजानी सी सूरत है कुछ जानी पहचानी
पास आकर छुपी-छुपी सी
दो अंखियाँ झुकी…

Advertisements

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s