न तुम हमें जानो, न हम तुम्हें जानें – Na Tum Hamen Jano (Baat Ek Raat Ki)

फ़िल्म: बात एक रात की / Baat Ek Raat Ki (1962)
गायक/गायिका: हेमंत कुमार, सुमन कल्याणपुर
संगीतकार: हेमंत कुमार
गीतकार: मज़रूह सुल्तानपुरी
अदाकार: वहीदा रहमान, देव आनंद




मगर लगता है कुछ ऐसा, मेरा हमदम मिल गया
न तुम हमें जानो, न हम तुम्हें जानें
मगर लगता है कुछ ऐसा, मेरा हमदम मिल गया
न तुम…

(ये मौसम ये रात चुप है, ये होंठों की बात चुप है
खामोशी सुनाने लगी, है दास्तां) – – 2
नज़र बन गई है, दिल की ज़ुबां
न तुम…

(मुहब्बत के मोड़ पे हम, मिले सबको छोड़ के हम
धड़कते दिलों का लेके, ये कारवां) – – 2
चले आज दोनो, जाने कहाँ
न तुम…

Advertisements

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s