तोरा मन बड़ा पापी साँवरिया रे – Tora Man Bada Papi (Ganga Jamuna)

फ़िल्म: गंगा जमुना / Ganga Jamuna (1961)
गायक/गायिका: आशा भोंसले
संगीतकार: नौशाद
गीतकार: शकील बदांयुनी
अदाकार: प्राण, दिलीप कुमार, वैजयन्ती माला

आ मतलब का तू मीत बेदर्दी गरज़ की राखे प्रीत
दुखिया मन को घायल करना समझे तू अपनी जीत

तोरा मन बड़ा पापी साँवरिया रे – 2
मिलाए छल-बल से नजरिया रे – 2
तोरा मन बड़ा …

तू संगदिल है तेरी ज़िन्दगी में प्यार नहीं
तेरे चमन में है सब-कुछ मगर बहार नहीं
तुझे क़सम है न यूँ मुस्करा के देख हमें
तेइरी नज़र का भी ज़ालिम कुछ ऐतबार नहीं
हाँ मिलाए छल-बल से …

सितमगरों की इनायत से बेरुख़ी अच्छी
जो तेरे साथ ना गुज़रे वो ज़िन्दगी अच्छी
गरज़ का यार है मतलब का तू है दीवाना
न तेरी दोस्ती अच्छी न दुश्मनी अच्छी
हाँ मिलाए छल-बल से …

जहाँ में हो जिसे जीना वो तुझसे दूर रहे
जो मरना चाहे वो आकर तेरे हुज़ूर रहे
ये क्या गज़ब है कि हम आह करके हों बदनाम
तू लाख ज़ुल्म करे फिर भी बेक़सूर रहे
हाँ मिलाए छल-बल से …

Advertisements

One comment on “तोरा मन बड़ा पापी साँवरिया रे – Tora Man Bada Papi (Ganga Jamuna)

  1. JP Bhatia कहते हैं:

    अदाकार: प्राण, दिलीप कुमार, वैजयन्ती माला

    Anwar Hussain not Pran

    Like

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s