मुग़ल-ए-आज़म – All Songs of Mughal-e-Azam (1960)



फ़िल्म: मुग़ल-ए-आज़म / Mughal-e-Azam (1960)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: नौशाद
गीतकार: शकील बदांयुनी
अदाकार: अजीत, दिलीप कुमार, मधुबाला, पृथ्वीराज कपूर

ऐ इश्क़ ये सब दुनिया वाले
बेकार की बातें करते हैं
पायल के ग़मों का इल्म नहीं
झंकार की बातें करते हैं

हर दिल में छुपा है पीर कोई
हर पाँव में है ज़ंजीर कोई
पूछे कोई उन से ग़म के मज़े
जो प्यार की बातें करते हैं

उल्फ़त के नये दीवानों को
किस तरह से कोई समझाये
नज़रों पे लगी है पाबन्दी
दीदार की बातें करते हैं

भँवरे हैं अगर मदहोश तो क्या
परवाने भी हैं खामोश तो क्या
सब प्यार के नग़में गाते हैं
सब यार की बातें करते हैं


फ़िल्म: मुग़ल-ए-आज़म / Mughal-e-Azam (1960)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: नौशाद
गीतकार: शकील बदांयुनी
अदाकार: मधुबाला

ऐ मेरे मुश्किल-कुशा, फ़रियाद है, फ़रियाद है
आपके होते हुए दुनिया मेरी बरबाद है

बेकस पे करम कीजिये, सर्कार-ए-मदीना
बेकस पे करम कीजिये
गर्दिश में है तक़दीर भँवर में है सफ़ीन – 2
बेकस पे करम कीजिये, सर्कार-ए-मदीना
बेकस पे करम कीजिये

है वक़्त-ए-मदद आई बिगड़ी को बनाने
गोशीदा नहीं आपसे कुछ दिल के फ़साने
ज़ख़्मों से भरा है किसी मजबूर का सीना
बेकस पे करम कीजिये …

छाई है मुसीबत की घटा गेसुओं वाले, गेसुओं वाले
लिल्लाह मेरी डूबती कश्ती को बचाले
तूफ़ान के आसार हैं, दुश्वार है जीना
बेकस पे करम कीजिये …

गर्दिश में है तक़दीर भँवर में है सफ़ीन
बेकस पे करम कीजिये, सर्कार-ए-मदीना
बेकस पे करम कीजिये


फ़िल्म: मुग़ल-ए-आज़म / Mughal-e-Azam (1960)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: नौशाद
गीतकार: शकील बदांयुनी
अदाकार: दिलीप कुमार, पृथ्वीराज कपूर, मधुबाला

हमें काश तुम से मुहब्बत न होती
कहानी हमारी हक़ीकत न होती

न दिल तुम को देते न मजबूर होते
न दुनिया न दुनिया के दस्तूर होते
क़यामत से पहले क़यामत न होती

हमीं बढ़ गये इश्क़ में हद से आगे
ज़माने ने ठोकर लगायी तो जागे
अगर मर भी जाते तो हैरत न होती

तुम्हीं फूँक देते नशेमन हमारा
मुहब्बत पे अहसान होता तुम्हारा
ज़माने से कोइ शिकायत न होती


फ़िल्म: मुग़ल-ए-आज़म / Mughal-e-Azam (1960)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: नौशाद
गीतकार: शकील बदांयुनी
अदाकार: दिलीप कुमार, पृथ्वीराज कपूर, मधुबाला

इन्सान किसी से दुनिया में इक बार मुहब्बत करता है
इस दर्द को लेकर जीता है, इस दर्द को लेकर मरता है

प्यार किया तो डरना क्या जब प्यार किया तो डरना क्या
प्यार किया कोई चोरी नहीं की प्यार किया…
प्यार किया कोई चोरी नहीं की छुप छुप आहें भरना क्या
जब प्यार किया तो डरना क्या
प्यार किया तो डरना क्या जब प्यार किया तो डरना क्या

आज कहेंगे दिल का फ़साना जान भी लेले चाहे ज़माना – 2
मौत वोही जो दुनिया देखे
मौत वोही जो दुनिया देखे घुट घुट कर यूँ मरना क्या
जब प्यार किया तो डरना क्या
प्यार किया तो डरना क्या जब प्यार किया तो डरना क्या

उनकी तमन्ना दिल में रहेगी, शम्मा इसी महफ़िल में रहेगी ह्बोक्ष{- 2}
इश्क़ में जीना इश्क़ में मरना
इश्क़ में जीना इश्क़ में मरना और हमें अब करना क्या
जब प्यार किया तो डरना क्या
प्यार किया तो डरना क्या जब प्यार किया तो डरना क्या

छुप न सकेगा इश्क़ हमारा चारों तरफ़ है उनका नज़ारा – 2
परदा नहीं जब कोई खुदा से
परदा नहीं जब कोई खुदा से बंदों से परदा करना क्या
जब प्यार किया तो डरना क्या
प्यार किया तो डरना क्या जब प्यार किया तो डरना क्या
प्यार किया कोई चोरी…


फ़िल्म: मुग़ल-ए-आज़म / Mughal-e-Azam (1960)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: नौशाद
गीतकार: शकील बदांयुनी
अदाकार: अजीत, दिलीप कुमार, पृथ्वीराज कपूर, मधुबाला

मोहे पनघट पे नन्दलाल छेड़ गयो रे
मोरी नाजुक कलइया मरोड़ गयो रे
मोहे पनघट पे …

कंकरी मोहे मारी, गगरिया फोड़ दारी
मोरी साड़ी अनाड़ी भिगोय गयो रे
मोहे पनघट पे …

नैनों से जादू किया, जियरा मोह लिया
मोरा घूँघटा नजरियो से तोड़ गयो रे
मोहे पनघट पे …


फ़िल्म: मुग़ल-ए-आज़म / Mughal-e-Azam (1960)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: नौशाद
गीतकार: शकील बदांयुनी
अदाकार: दिलीप कुमार, पृथ्वीराज कपूर, मधुबाला

मुहब्बत की झूठी कहानी पे रोये
बड़ी चोट खाई (जवानी पे रोये – 2)
मुहब्बत की झूठी …

न सोचा न समझा, न देखा न भाला
तेरी आरज़ू ने, हमें मार डाला
तेरे प्यार की मेहरबानी पे रोये, रोये
मुहब्बत की झूठी …

खबर क्या थी होंठों को सीना पड़ेगा
मुहब्बत छुपा के भी, जीना पड़ेगा
जिये तो मगर ज़िन्दगानी पे रोये, रोये
मुहब्बत की झूठी …


फ़िल्म: मुग़ल-ए-आज़म / Mughal-e-Azam (1960)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर, शमशाद बेगम
संगीतकार: नौशाद
गीतकार: शकील बदांयुनी
अदाकार: दिलीप कुमार, पृथ्वीराज कपूर, मधुबाला

तेरी महफ़िल में किस्मत आज़मा कर हम भी देखेंगे
घड़ी भर को तेरे नज़दीक आकर हम भी देखेंगे – 2
अजी हां हम भी देखेंगे – 2

तेरी महफ़िल में किस्मत आज़मा कर हम भी देखेंगे
तेरे कदमों पे सर अपना झुका कर हम भी देखेंगे – 2
अजी हां हम भी देखेंगे – 2

बहारें आज पैग़ाम-ए-मोहब्बत ले के आई हैं
बड़ी मुद्दत में उम्मीदों की कलियां मुस्कुराई हैं
बड़ी मुद्दत में अजी हां
बड़ी मुद्दत में उम्मीदों की कलियां मुस्कुराई हैं
ग़म-ए-दिल से जरा दामन बचाकर हम भी देखेंगे – 2
अजी हां हम भी देखेंगे

अगर दिल ग़म से खाली हो तो जीने का मज़ा क्या है
ना हो खून-ए-जिगर तो अश्क़ पीने का मज़ा क्या है
ना हो खून-ए-जिगर हां हां
ना हो खून-ए-जिगर तो अश्क़ पीने का मज़ा क्या है
मोहब्बत में जरा आँसू बहाकर हम भी देखेंगे – 2
अजी हां हम भी देखेंगे

मोहब्बत करने वालो का है बस इतना ही अफ़साना
तड़पना चुपके चुपके आहें भरना घुट के मर जाना
तड़पना चुपके चुपके हां हां
तड़पना चुपके चुपके आहें भरना घुट के मर जाना
किसी दिन ये तमाशा मुस्कुरा कर हम भी देखेंगे – 2
तेरी महफ़िल में किस्मत आज़मा कर हम भी देखेंगे
अजी हां हम भी देखेंगे

मोहब्बत हमने माना ज़िन्दगी बरबाद करती है
ये क्या कम है के मर जाने से दुनिया याद करती है
ये क्या कम है अजी हां हाँ
ये क्या कम है के मर जाने से दुनिया याद करती है
किसी के इश्क़ में दुनिया लुटाकर हम भी देखेंगे – 2
तेरी महफ़िल में किस्मत आज़मा कर हम भी देखेंगे

तेरे कदमों पे सर अपना झुकाकर आ आ …
घड़ी भर को तेरे नज़दीक आकर आ आ …
तेरी महफ़िल में किस्मत आज़मा कर हम भी देखेंगे
अजी हां हम भी देखेंगे
अजी हां हम भी देखेंगे


फ़िल्म: मुग़ल-ए-आज़म / Mughal-e-Azam (1960)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: नौशाद
गीतकार: शकील बदांयुनी
अदाकार: अजीत, दिलीप कुमार, पृथ्वीराज कपूर, मधुबाला

वोह आई सुबहा के परदे से मौत की आवाज़
किसी ने तोड़ दिया जैसे ज़िंदगी का साज़

ख़ुदा निगेहबान हो तुम्हारा – 2
धड़कते दिल का पयाम ले लो – 2
तुम्हारी दुनिया से जा रहें हैं
उठो हमारा सलाम ले लो – 2

(है वक़्त-ए-रुख़्सत, गले लगा लो
ख़ताएं भी आज बक्ष डालो) – 2
बिछड़ने वाले का दिल न तोड़ो
ज़रा मोहब्बत से काम ले लो – 2

तुम्हारी दुनिया से जा रहें हैं
उठो हमारा सलाम ले लो

(उठे जनाज़ा जो कल हमारा
क़सम है तुमको, न देना काँधा) – 2
न हो मोहब्बत हमारी रुसवा
ये आँसुओं का पयाम ले लो – 2

ख़ुदा निगेहबान हो तुम्हारा
धड़कते दिल का पयाम ले लो


फ़िल्म: मुग़ल-ए-आज़म / Mughal-e-Azam (1960)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
संगीतकार: नौशाद
गीतकार: शकील बदांयुनी
अदाकार: दिलीप कुमार, पृथ्वीराज कपूर, मधुबाला

ये दिल की लगी कम क्या होगी
ये इश्क़ भला कम क्या होगा
जब रात है ऐसी मतवाली – 2
फिर सुबह का आलम क्या होगा – 2

नग़मो से बरसती है मस्ती
छलके हैं खुशी के पैमाने – 2
आज ऐसी बहारें आई हैं
कल जिनके बनेंगे अफ़साने – 2
अब इसे ज्यादा और हसीं ये प्यार का मौसम क्या होगा – 2
जब रात है ऐसी मतवाली
फिर सुबह का आलम क्या होगा – 2

ये आज का रंग और ये महफ़िल
दिल भी है यहाँ दिलदार भी है – 2
आँखों में कयामत के जलवे
सीने में सुलगता प्यार भी है – 2
इस रंग में कोई जी ले अगर मरने का उसे ग़म क्या होगा – 2
जब रात है ऐसी मतवाली
फिर सुबह का आलम क्या होगा – 2

हालत है अजब दीवानों की
अब खैर नहीं परवानों की – 2
अन्जाम-ए-मोहब्बत क्या कहिये
लय बढ़ने लगी अरमानों की – 2
ऐसे में जो पायल टूट गयी फिर ऐ मेरे हमदम क्या होगा – 2
जब रात है ऐसी मतवाली – 2
फिर सुबह का आलम क्या होगा – 2


फ़िल्म: मुग़ल-ए-आज़म / Mughal-e-Azam (1960)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार: नौशाद
गीतकार: शकील बदांयुनी
अदाकार: दिलीप कुमार, पृथ्वीराज कपूर, मधुबाला

ज़िन्दाबाद! ज़िन्दाबाद! (ऐ मुहब्बत ज़िन्दाबाद! – 2)
ज़िन्दाबाद! ज़िन्दाबाद! (ऐ मुहब्बत ज़िन्दाबाद! – 2)

(दौलत की ज़ंजीरों से तू – 2) रहती है आज़ाद

ज़िन्दाबाद! ज़िन्दाबाद! (ऐ मुहब्बत ज़िन्दाबाद! – 2)

मन्दिर में मस्जिद में तू और तू ही है ईमानों में
मुरली की तानों में तू और तू ही है आज़ानों में
तेरे दम से दीन-धरम की दुनिया है आबाद

ज़िन्दाबाद! ज़िन्दाबाद! (ऐ मुहब्बत ज़िन्दाबाद! – 2)

प्यार की आँधी रुक न सकेगी नफ़रत की दीवारों से
ख़ून-ए-मुहब्बत हो न सकेगा ख़ंजर से तलवरों से
मर जाते हैं आशिक़ ज़िन्दा रह जाती है याद

ज़िन्दाबाद! ज़िन्दाबाद! (ऐ मुहब्बत ज़िन्दाबाद! – 2)

इश्क़ बग़ावत कर बैठे तो दुनिया का रुख़ मोड़ दे
आग लगा दे महलों में और तख़्त-ए-शाही छोड़ दे
सीना ताने मौत से खेले कुछ न करे फ़रियाद

जिन्दाबाद! ज़िन्दाबाद! – 2 (ऐ मुहब्बत ज़िन्दाबाद! – 2)

ताज हुकूमत जिसका मज़हब फिर उसका ईमान कहाँ – 2
जिसके दिल में प्यार न हो, वो पथ्थर है इनसान कहाँ – 2
प्यार के दुश्मन होश में, आ हो जायेगा बरबाद!

ज़िन्दाबाद! ज़िन्दाबाद! (ऐ मुहब्बत ज़िन्दाबाद! – 2)

Advertisements

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.