कहाँ जा रहा है तू ऐ जाने वाले – Kahan Ja Raha Hai (Seema)

फ़िल्म: सीमा / Seema (1955)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार: शंकर-जयकिशन
गीतकार: शैलेंद्र सिंह
अदाकार: नूतन, बलराज साहनी, शोभा खोटं



कहाँ जा रहा है तू ऐ जाने वाले – 2
अँधेरा है मन का दिया तो जला ले
कहाँ जा रहा है …

ये जीवन सफ़र एक अंधा सफ़र है – 2
बहकना है मुमकिन भटकने का डर है – 2
सम्भलता नहीं दिल किसी के स.म्भाले
कहाँ जा रहा है …

जो ठोकर न खाए नहीं जीत उसकी
जो गिर के संभल जाए है जीत उसकी
निशाँ मंज़िलों के ये पैरों के छाले
कहाँ जा रहा है …

कभी ये भी सोचा कि मंज़िल कहाँ है – 2
बड़े से जहाँ में ( तेरा घर कहां है ) – 2
जो बाँधे थे बंधन वो क्यों तोड़ डाले
कहाँ जा रहा है …

Advertisements

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s