ये रातें नई पुरानी – Ye Raten Nai Purani


फिल्मः जूली (1975)
गायक/गायिकाः लता मंगेशकर
संगीतकारः राजेश रोशन
गीतकारः आनंद बख्शी
कलाकारः विक्रम, लक्ष्मी


ये रातें नई पुरानी -2
आते आते-जाते कहती हैं कोई कहानी
ये रातें …

आ रहा है देखो कोई जा रहा है देखो कोई
सबके दिल हैं जागे-जागे सबकी आँखें खोई-खोई
ख़ामोशी करती है बातें
ये रातें …

क्या समाँ है जैसे ख़ुश्बू उड़ रही हो कलियों से
गुज़री हो निंदिया में पलकों की गलियों से
सुन्दर सपनों की बारातें
ये रातें …

कौन जाने कब चलेंगी किस तरफ़ से ये हवाएँ
साल भर तो याद रखना ऐसा न हो भूल जाएँ
इस रात की मुलाकातें
ये रातें …

Advertisements

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s