भँवरे ने खिलाया फूल – Bhanwre Ne Khilaya Phool

फिल्मः प्रेमरोग (1982)
गायक/गायिकाः सुरेश वाडेकर, लता मंगेशकर
संगीतकारः लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकारः नरेंद्र शर्मा
कलाकारः ऋषि कपूर, पद्मिनी कोल्हापुरे, नंदा

( भँवरे ने खिलाया फूल फूल को ले गया राज-कुँवर
भँवरे तू कहना न भूल फूल तुझे लग जाय मेरी उमर
भँवरे ने खिलाया फूल फूल को ले गया राज-कुँवर ) -2

वो दिन अब ना रहे
क्या-क्या बिपदा पड़ी फूल पर कैसे फूल कहे
वो दिन अब ना रहे
होनी थी या वो अनहोनी जाने इसे विधाता
छूटे सब सिंगार गिरा गल-हार टूटा हर नाता
शीश-फूल मिल गया धूल में क्या-क्या दुख न सहे
वो दिन अब ना रहे
भँवरे तू कहना न भूल फूल डाली से गया उतर
भँवरे ने खिलाया फूल फूल को ले गया राज-कुँवर

सुख-दुख आये जाये जाये
सुख-दुख आये जाये
सुख की भूख ना दुख की चिंता प्रीत जिसे अपनाये
सुख-दुख आये जाये
मीरा ने पिया विष का प्याला विष को भी अमरित कर डाला
प्रेम का ढाई अक्षर पढ़ कर मस्त कबीरा गाये
सुख-दुख आये जाये
भँवरे तू कहना न भूल फूल गुज़रे दिन गये गुज़र
भँवरे ने खिलाया फूल फूल को ले गया राज-कुँवर

ना
ना रे ना
फैली-फूली फुलवारी में भँवरा गुन-गुन गुन-गुन गुन-गुन गुन-गुन गाये
काहे सोवत निंदिया जगाये -2
लाखों में किसी एक फूल ने लाखों फूल खिलाये
मंद-मंद मुस्काये
हाय काहे सोवत निंदिया जगाये
भँवरे तू कहना न भूल फूल तेरा मधुर नहीं मधुकर
भँवरे ने खिलाया फूल फूल को ले गया राज-कुँवर
भँवरे तू कहना न भूल फूल मेरा सुंदर सरल सुघड़
भँवरे ने खिलाया फूल फूल को ले गया राज-कुँवर
फूल मेरा सुंदर सरल सुघड़
फूल को ले गया राज-कुँवर
फूल मेरा सुंदर सरल सुघड़ -2

Advertisements

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s