मोरी अटरिया पे कागा बोले – Mori Atariya Pe Kaaga Bole

फ़िल्म – आंखें (1950)
गायक/गायिका – मीना कपूर
संगीतकार – मदन मोहन
गीतकार – राजा मेहंदी अली खान
अदाकार – नलिनी जयवंत

(मोरी अटरिया पे कागा बोले
मोरा जिया डोले
कोई आ रहा है) – 2

(मोरे मन में उठी है उमंग रे
ओ मोरा फड़के है बाँया अंग रे) – 2
मोरे मन की मुरलिया पे हौले-हौले
सुर खोले-खोले
कोई गा रहा है
मोरी अटरिया पे…

आज बगिया में आई बहार रे
ओ मेरे जीवन में सोलह सिंगार रे
हो मेरे जीवन में सोलह सिंगार रे
मोरे कान में गुन-गुन बोले-बोले
रस घोले-घोले
कोई गा रहा है
मोरी अटरिया पे…

(मोरे माथे पे कुमकुम की बिन्दिया
आज लूँगी न पल भर मैं निंदिया) – 2
घर में ठण्दी हवा मस्त डोले
घूँघट पट खोले
जिया लहरा रहा है
मोरी अटरिया पे…

Advertisements

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s