ग़ुज़र गया वो ज़माना कैसा-कैसा – Guzar Gaya Woh Jamana Kaisa

फिल्मः डॉक्टर (1941)
गायक/गायिकाः पंकज मलिक
संगीतकारः पंकज मलिक
गीतकारः
कलाकारः पंकज मलिक

ग़ुज़र गया वो ज़माना कैसा-कैसा
ग़ुज़र गया वो ज़माना
कैसा-कैसा
हँसी-ख़ुशी की बहार थी जिसमें
ग़ुज़र गया वो ज़माना
कैसा-कैसा
ग़ुज़र गया

फूल तमन्नाओं के जिसमें
क़दम-क़दम पर खिलते थे
अब वो ही रस्ता उजड़ा बन है
जिसपे है आना-जाना
कैसा-कैसा
ग़ुज़र गया वो ज़माना

हँसता हुआ
हँसता हुआ एक राज़ है जिससे
कोना-कोना रोशन था
ऐसा बुझा के
ऐसा बुझा के दुबारा जिसको
टिमटिम नहीं जलाना
कैसा-कैसा
ग़ुज़र गया वो

गया ज़माना
गया ज़माना फिर आयेगा
जाने वाली जानेगी
हमको न पहचानेगा जो कोई
हम भी – 2
हम भी क्यूँ पहचानेंगे
आ जा आ जा

Advertisements

Leave a comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s