बद्रीनाथ की दुल्हनियां – Badrinath Ki Dulhania Title Song


फ़िल्म: बद्रीनाथ की दुल्हनियां – Badrinath Ki Dulhania (2017)
गायक/गायिका: देव नेगी, नेहा कक्कड़, मोनाली ठाकुर, इक्का
गीतकार: शब्बीर अहमद
संगीतकार: तानिश्क बागची


[खेलन क्यूं ना जाए
तू होरी रे रसिया] (2)

पूछे हैं तोहे सारी गुइयां
कहां है बद्री की दुल्हनियां, दुल्हनियां…
कुर्ती पे तेरी मलूं गुलाल
रंग बता ब्लू या लाल
एयर में तेरे उड़ते बाल
आजा रंग दूं दोनों गाल

अरे सा रा रा रा…
अरे सा रा रा रा…
कबीरा सा रा रा रा…

बेबी के देखे झुमके
लगा दे चार ठुमके
छिछोरे नाचे जमके रे

ऐ ऐ ऐ

यूपी में दिन दहाड़े
विंडो और छत पे ताड़े
हम देखें आंखें फाड़े रे

अरे अरे
तुझपे टीकी है मेरी नॉटी नजरिया
तुझको बना कर के
तुझको बना कर के
तुझको बना कर के
ले जायेंगे बद्री की दुल्हनियां
तुझको बना कर के
ले जायेंगे बद्री की दुल्हनियां
रानी बना कर के
ले जायेंगे बद्री की दुल्हनियां

[मुनिया रे मुनिया
बद्री की दुल्हनियां] (2)

होली है…

बेबी बड़ी भोली है
बेबी की रंग दी चोली है
अंग्रेजी में खिट पिट मैडम री
बुरा ना मानो होली है

रामा रामा गज़ब हो गया
तेरे से नजरिया लड़ गयी
आई जवानी जुल्म होई गवा
किस आफत में पड गयी

अरे सा रा रा रा
कबीरा सा रा रा रा

हो…
रामा रामा गज़ब हो गया
तेरे से नजरिया लड़ गयी
आई जवानी जुल्म होई गवा
किस आफत में पड गयी
हाय मैं मर गयी
सूली पे चढ़ गयी
ना ना कहना था
लेकिन हां कर गयी

दिल तुझको सेंड मैं तो कर गयी रे
मैं बद्री की दुलहनियां

तुझको बना कर के
ले जायेंगे हम बद्री की दुल्हनियां

बेबी के देखे झुमके
लगा दे चार ठुमके
छिछोरे नाचे जमके रे

ऐ ऐ ऐ

अरे रे रे…
तुझपे टीकी है मेरी नॉटी नजरिया… हाय

तुझको बना कर के
तुझको बना कर के
तुझको बना कर के
ले जायेंगे बद्री की दुल्हनियां
तुझको बना कर के
ले जायेंगे बद्री की दुल्हनियां
रानी बना कर के
ले जायेंगे बद्री की दुल्हनियां

[मुनिया रे मुनिया
बद्री की दुल्हनियां] (2)

Advertisements

हल्का-हल्का है मुझे तेरा नशा – Halka Halka Hai Mujhe Tera Nasha (Raees)


फ़िल्म: रईस – Raees (2017)
गायक/गायिका: सोनू निगम, श्रेया घोषाल
गीतकार: जावेद अख्तर
संगीतकार: राम संपत


अंदाज़ तेरे बांके
ना जानू है कहां के
हम्म हम्म…
अंदाज़ तेरे बांके
ना जानू है कहां के

आज भी नई लगे तेरी हर अदा
छल्का-छल्का जो हुस्न तेरा
हल्का-हल्का है मुझे तेरा नशा
हल्का-हल्का है मुझे तेरा नशा

हो हो… तुम जो कहती हो (हा आह)
हूँ मेरी तुम सिर्फ मेरी हो (हा आह)
तो मेरा तुम मन झूम जाता है
मेरा मन झूम-झूम-झुम जाता है
हो… तुम जो कहते हो (हा आह)
मेरे ही तुम बांके रहते हो (हा आह)
तो मेरा मन गीत गाता है
मेरा मन गीत कोई गीत गाता है
हम्म… अंदाज़ तेरे बांके
ना जानू है कहां के
आज भी नई लगे तेरी हर अदा
छल्का-छल्का जो हुस्न तेरा
हल्का-हल्का है मुझे तेरा नशा
हल्का-हल्का है मुझे तेरा नशा

हल्का-हल्का है मुझे तेरा नशा
हल्का-हल्का है मुझे तेरा नशा

जूबी डूबी जूबी डूबी पम्पारा – Jubi Dubi Jubi Dubi Pampara (3 Idiots)


फिल्म: 3 ईडियट्स (2009)
गायक: श्रेया घोषाल, सोनू निगम
गीत: स्वानंद किरकिरे
संगीत: शांतनु मोइत्रा


गुनगुनाती है ये हवाएं, गुनगुनाता है गगन
गा रहा है यह सारा आलम, जूबी डूबी परम्पम
(जूबी डूबी जूबी डूबी पम्पारा जूबी डूबी परम्पम
जूबी डूबी जूबी डूबी नाचे क्यूं पागल स्टुपिड माइंड) – (2)

शाखों पे पत्ते गा रहे हैं, फूलों पे भंवरे गा रहे
दीवानी किरणें गा रही हैं, यं पंछी गा रहे
बगिया में दो फूलों की हो रही है गुफ्तगू
जैसा फिल्मों में होता है हो रहा है हुबहू
आयी आयी आयी…
(जूबी डूबी जूबी डूबी पम्पारा जूबी डूबी परम्पम
जूबी डूबी जूबी डूबी नाचे क्यूं पागल स्टुपिड माइंडन ) – (2 )

हां… रिमझिम रिमझिम रिमझिम सन सन सन सन हवा
टिप टिप टिप टिप बुंदे गुर्राती बिजलियां
भीगी भीगी साड़ी में यूं ठुमके लगाती तू
जैसा फिल्मों में होता है हो रहा है हुबहू
आयी आयी आयी…
(जूबी डूबी जूबी डूबी पम्पारा जूबी डूबी परम्पम
जूबी डूबी जूबी डूबी नाचे क्यूं पागल स्टुपिड माइंडन ) – (2 )

अम्बर का चांद जमीं पर इतराके गा रहा
इक टिम टिम टूटा तारा इठलाके गा रहा
हैं रातें अकेली तनहा मुझे छू ले आके तू
जैसा फिल्मों में होता है हो रहा है हुबहू

(जूबी डूबी जूबी डूबी पम्पारा जूबी डूबी परम्पम
जूबी डूबी जूबी डूबी नाचे क्यूं पागल स्टूपिड माइंड) – (2 )
जूबी डूबी डूबी ओ डूबी पागल स्टूपिड माइंड पमपरारा
जूबी डूबी जूबी डूबी पमपारा पागल स्टूपिड माइंड

तेरे बिन, तेरे बिन – Tere Bin (Wazir)



फ़िल्म/एल्बम: वज़ीर (2015)
संगीतकार: शांतनु मोइत्रा
गीतकार: विधु विनोद चोपड़ा
गायक/गायिका: सोनू निगम, श्रेया घोषाल


तेरे बिन, तेरे बिन
तेरे बिना मरना नहीं
जीना नहीं तेरे बिन
तेरे बिन…

बावरी पिया, लागे ना जिया
देखो मेरा मन, जलता दीया
जलता दीया, बुझे ना पिया
बुझे ना पिया, जलता दीया
तेरे बिना मरना नहीं
जीना नहीं तेरे बिन
तेरे बिन…

दो नैन मिले दो फूल खिले – Do Nain Mile Do Phool Khile (Ghunghat)


फ़िल्म/एल्बम: घूंघट (1960)
संगीतकार: रवि
गीतकार: शकील बदायुनी
गायक/गायिका: आशा भोंसले, महेंद्र कपूर


दो नैन मिले, दो फूल खिले
दुनिया में बहार आई
एक रंग नया लायी, एक रंग नया लायी
दिल गाने लगा, लहराने लगा
ली प्यार ने अंगड़ाई
बजने लगी शहनाई, बजने लगी शहनाई
दो नैन मिले…

अरमान भरी नज़रों से बलम
इस तरह हमें देखा न करो
हो जाए ना रुसवा इश्क़ कहीं
दुनिया है बुरी, दुनिया से डरो
दुनिया का मुझे कुछ खौफ़ नहीं
दुनिया तो है हरजाई, और इश्क़ है सौदाई
दो नैन मिले…

ज़ुल्फों की घनी छांव में सनम
दम भर के लिए जीने दे मुझे
इस मस्त नज़र की तुझको कसम
आंखों से ज़रा पीने दे मुझे
पीना तो कोई दुश्वार नहीं
ओ प्यार के शहदायी, बहके तो है रुसवाई
दो नैन मिले…